Category: Ashq Shayari

हमारे आंसू पोंछ कर…

हमारे आंसू पोंछ कर… हमारे आंसू पोंछ कर वो मुस्कुराते हैं,  इसी अदा से वो दिल को चुराते हैं,  हाथ उनका छू जाये हमारे चेहरे को,  इसी उम्मीद में …

रुकते नहीं हैं आँसू…

रुकते नहीं हैं आँसू… कलम चलती है तो दिल की आवाज लिखता हूँ,  गम और जुदाई के अंदाज़-ए-बयां लिखता हूँ,  रुकते नहीं हैं मेरी आँखों से आँसू,  मैं जब …