Author: Mohit Rao

ज़माना ही बदल देंगे…

ज़माना ही बदल देंगे… अपनी मोहब्बत के लिए आशियाना बदल देंगे,  दिल ने चाहा तो ये फ़साना बदल देंगे,  अरे दुनिया वालों तुम्हारी हस्ती ही क्या है,  जरूरत पड़ी …