रुकते नहीं हैं आँसू…

रुकते नहीं हैं आँसू…

कलम चलती है तो दिल की आवाज लिखता हूँ, 
गम और जुदाई के अंदाज़-ए-बयां लिखता हूँ, 
रुकते नहीं हैं मेरी आँखों से आँसू, 
मैं जब भी उसकी याद में अल्फाज़ लिखता हूँ।

Leave a Reply