मेरे बर्दाश्त करने का…

मेरे बर्दाश्त करने का…

मेरे बर्दाश्त करने का अंदाजा 
तू क्या लगायेगी पगली, 
तेरी उम्र से ज्यादा मेरे जिस्म पर 
ज़ख्मो के निशाँ हैं।

Leave a Reply