आवाज देते हैं लोग…

आवाज देते हैं लोग…

बैठता वहीं हूँ, जहाँ अपनेपन का अहसास है मुझको, 
यूँ तो ज़िंदगी में कितने ही लोग आवाज देते हैं मुझको।

Leave a Reply